Geeta Chapter 2 verse 46

यावानर्थ उदपाने सर्वतः संप्लुतोदके। तावान्सर्वेषु वेदेषु ब्राह्मणस्य विजानतः।।2.46।। यह गीता के दुसरे अध्याय का ४६ वा श्लोक है. इसके बाद जो श्लोक आता है उस श्लोक को सभी लोग या जो भी गीता को थोड़ा बहुत भी जानते है, उन सबों ने सुना है, वो है…… कर्मण्येवाधिकारस्ते मा फलेषु कदाचन। मा कर्मफलहेतुर्भूर्मा ते सङ्गोऽस्त्वकर्मणि।।2.47।। इस श्लोक … More Geeta Chapter 2 verse 46

नहीं चाहिए जवाब 

अभी चुनाव के बाद हो रहे सारे विश्लेषणों में अथवा जितना मैंने देखा और सुना है, और खासकर वैसे विश्लेषण जो ज्यादा बड़े बुद्धिजीवी कर रहे हैं, वो एक विचित्र पूर्वाग्रह से ग्रसित हैं। इस पूर्वाग्रह का एक उदाहरण है यह बयान कि लोगों ने नोटबंदी की तकलीफों के बावजूद मोदी जी को वोट दिया … More नहीं चाहिए जवाब 

ये वो हैं जो गुमराह हैं 

  अक्सर देखता रहता हूँ मैं अपने दोस्तों को चट्टान की तरह टीके है वो अपने विचारों पे मित्र जो मेरा मार्क्सिस्ट है तो है वो मार्क्सिस्ट और राइटिस्ट दोस्त हमेशा अपने ख्यालों में राईट रहता है।। मोदी को जो चाहतें है वो बस उसे चाहतें है जो नफरत करते हैं तो बस नफरत करते … More ये वो हैं जो गुमराह हैं 

कौन है? उनका असली पहचान क्या है !!

I hate[1] seekers of the truth.  Usually truth is not true.  Death is the truth, and truth is death. Also truth is one, and one is boring. Truth is power and power begets violence. I like violence only on cinema screen or in war.  Also people after knowing the truth become either boring or dreadful. … More कौन है? उनका असली पहचान क्या है !!

Demonetization Talks I

In these series of posts, I am going to write my views on major media reports coming on demonetization declaration of India. I will particularly focus on those reports and writings which are criticizing this move, claimng that demonetisation is a mischievous anti-people scheme and it is bound to fail. My aim is to expose the baselessness of … More Demonetization Talks I

Cinema in Cinema

Like many of you guys I also love Ggangs of Wasseypur movie. And I have been waiting for this movie, actually not waiting, there used to be a website called passion for cinema around 2007-2008 may be till 2009 times, a very very interesting site, we don’t have anything like that now, that time in … More Cinema in Cinema