Man is Born Free

कभी कभी मुझे लगता है कि मैं बस ऐसे हीं उदास हो जाता हूँ सिर्फ मूड में आने के लिए।

मैंने रूसो का कहीं पढ़ा था कि man is born free but everywhere he is in chains. जब पढ़ा था तब लड़कपन था, जो भी हो पसंद तो तब भी बहुत आयी थी ये लाइन, लेकिन उस वक़्त मुझे लगता है जिस पार्ट ने मुझे सबसे ज्यादा आकर्षित किया था वो था chain वाला पार्ट, लड़कपन था, मतलब लगाना नहीं आता था, पर अब जो पार्ट मुझे ज्यादा आकर्षित करता है वो है, पहला वाला। born free वाला !!

Feminist लोग क्या पढ़ते हैं यहाँ?? इस वाले man को भी क्या वो वैसे हीं पढ़ते जैसे वो Rights of Man में Man को पढ़ते हैं। women साथ भी क्या ये born free वाली बात बोली जा सकती है या क्या रूसो ने अपने मन में woman को वैसे हीं include किया होगा जैसे IPC ने किया है। और मान लो अगर रूसो ने नहीं किया होगा तो क्या अब किया जा सकता है?? क्या एक woman भी born free हो सकती या होती है। कहीं ऐसा तो नहीं कि फ्रांस में वो हो या मगर यहाँ थोडा और टाइम लगेगा। उस तरफ अभी मैं जाऊँगा नहीं।

अच्छा man के लिए हीं जब हम यह बात बोलते हैं कि man is born free but everywhere he is in chain, क्या यह बात सही में हम man के लिए बोल सकते हैं?? या इसको ऐसे समझे कि जो फ्री पैदा हुआ और बाद में chain में जकड़ लिया जाए वही man होता है।

जहाँ तक मेरा पढ़ा हुआ है इसको जब हिंदी लिखते हैं तो man को इंसान लिखते हैं, मर्द नहीं लिखते हैं, हालाँकि फेमिनिस्ट पॉइंट ऑफ़ व्यू से man का ट्रांसलेशन मर्द होना चाहिए। फिर भी हिंदी में भी इसको इंसान हीं क्यों लिखते हैं ?? ह्यूमन राइट्स को हिंदी में मानवाधिकार लिखते हैं, उसी तरह से क्या बोल सकते हैं मानव फ्री पैदा हुआ है, अजीब लग रहा है न, फ्री का हिंदी क्या होगा ?

मुफ्त तो नहीं होगा। मानव मुफ्त पैदा हुआ है, मुफ्त हिंदी है भी नहीं, वैसे अगर आप ध्यान दे तो मानव मुफ्त पैदा हुआ है थोड़ा अजीब लगता है लेकिन आदमी मुफ्त उतना बुरा नहीं लगता है। क्यों?? वैसे जैसा कहा मुफ्त हिंदी है भी नहीं, आज़ाद भी उर्दू हीं है, स्वतंत्रता अगर हम फ्री के लिए यूज़ करे तो बहुत Kant टाइप का मीनिंग हो जाएगा freedom का, स्वतंत्रता का सही अंग्रेजी ऑटोनोमी autonomy होना चाहिए। तो मेरा तो मानना है कि मानव शब्द का यहाँ इस्तेमाल हो हीं नहीं सकता है, क्योंकि हमारे यहाँ हिंदी के रुट सोर्स में फ्री या फ्रीडम के लिए कोई शब्द हीं नहीं है और मानव के साथ फ्री शब्द इस्तेमाल करना थोड़ा मुश्किल है।

मानव तत्सम है। मतलब सीधा संस्कृत है। संस्कृत में मानव का मतलब मज़ेदार है, मनु के वंसज को मानव बताया गया है। इंद्र मानवों के पति (स्वामी) हैं। वाक्य के द्वारा मतलब समझाऊँ तो ऐसा संस्कृत में बोल सकते हैं कि वो मानव के रूप में राक्षस है या उल्टा भी। कुंडली में भी आप देखिएगा कि लोग या तो मानव होते हैं, या राक्षस होते हैं या देवता होते हैं। मानवीय स्वाभाव। मन से इस शब्द का कोई रिश्ता है क्या ?? की जिसका मन होता है वही मानव हो। मगर फिर क्या जानवरों के पास भी मन नहीं होता है, भले हीं बुद्धि न हो। मगर मन और बुद्धि पे फिर कभी।

अभी सीधे देखते हैं कि क्यों इंसान सबसे सही ट्रांसलेशन है। इंसान शब्द अरब के जिस रुट वर्ड से आता है वो है ‘nasia’, उसका मतलब होता है ‘to forget’, जो भूल सके। या भूल जाता है। इसलिए अगर रमजान में आप भूल से कुछ खा लिए तो आपका रोजा खत्म नहीं हो जाता है, आप फिर भी रख सकते है क्योंकि भूल से जो आपने खाया वो आपको खुदा ने दिया है। इसलिए अगर अरब वाले रुट से इंसान का मतलब लिया जाए तो इंसान को ज्यादा पछताना नहीं चाहिए, गलती मानो और आगे बढ़ो क्योंकि इंसान का मतलब होता है भूलना।

लेकिन एक और बात भी है इंसान के रुट. में। कुछ लोगों का कहना है इंसान तुर्की के ünsiyet शब्द से भी आ सकता है जिसका मतलब है उल्फत, प्यार। वैसे अगर हम देखे इंसान शब्द अगर आज भी कहीं सबसे ज्यादा इस्तेमाल होता है तो वो इंसानियत के मतलब में होता है, इंसानियत का मतलब मोहब्बत नहीं हुआ तो और क्या है।

अब देखिये रूसो वाली बात। सच है इंसान आज़ाद पैदा होता है मगर अगर हर जगह अगर वो chain से बंधा है तो वो chain है मोहब्बत का। अब इस हिंसाब से देखे तो इस लाइन का पूरा समझ में आता है क्या मतलब हुआ कि इंसान आज़ाद पैदा हुआ लेकिन हर तरफ वो जंजीर से बंधा हुआ है। यह ज़ंज़ीर प्यार है जो इंसान का मूल प्रकृति है। अब यह प्रकृति अगर माया है तो।

Advertisements

Leave a Reply

Fill in your details below or click an icon to log in:

WordPress.com Logo

You are commenting using your WordPress.com account. Log Out / Change )

Twitter picture

You are commenting using your Twitter account. Log Out / Change )

Facebook photo

You are commenting using your Facebook account. Log Out / Change )

Google+ photo

You are commenting using your Google+ account. Log Out / Change )

Connecting to %s